शेयर मार्केट में जोखिम तब है, जब आपको पता ही नही है कि, आप शेयर मार्केट में क्या कर रहे है.

निवेश करते समय निवेशक को खुद पर भरोसा होना बहुत जरूरी है.

शेयर मार्केट में अगर आपको किसी शेयर पर अगले 10 सालो का भरोसा नही है, तो उसे अपने पास 10 मिनट के लिए भी न रखे.

यदि हार की कोई सम्भवना न हो, तो जीत का कोई अर्थ नही होता है.

शेयर मार्केट में जो हारता है, वही जीत का असली मतलब और जीत का नया रास्ता जानता है.

दृढ़ इच्छाशक्ति हमेशा सफल और असफल लोगो के बीच का अंतर होता है.

अक्सर शेयर मार्केट मे तूफान के बाद ही पता चलता है कि, किसकी छत मे सबसे ज्यादा दम है.

सभी लोग सफलता के सपने देखते है, लेकिन कुछ लोग जागते है और कड़ी मेहनत करते है.

अधिकतर महान लोगो ने अपने सबसे बड़ी सफलता, अपनी सबसे बड़ी असफलता से हासिल की है.

निवेश करते समय आपको अपने आप पर सबसे ज्यादा भरोसा होना चाहिए.

बाजार के उतार-चढ़ाव को अपना मित्र समझिए, दुसरो की मूर्खता का फायदा उठाए, खुद उस का हिस्सा ना बने

शेयर मार्केट से जुड़ी खबरें, अप्डेट्स और गाइड्स के लिए हमारे ब्लॉग www.blogride.in पर विज़िट करे