Credit Card: क्या है क्रेडिट कार्ड और कैसे काम करता है?

5/5 - (1 vote)

क्रेडिट कार्ड (Credit Card) आजकल के समय में वित्तीय लेन-देन के साधन के रूप में उभर रहा है। यह एक विशेष प्रकार का वित्तीय उपकरण है जिससे व्यक्ति वस्तुओं और सेवाओं को खरीदने के लिए काम में लाता हैं, आपने देखा भी होगा जब हम कोई ऑनलाइन सेवा खरीदते या शॉपिंग करते हैं तो अधिकतर हमसे क्रेडिट कार्ड से पेमेंट के लिए बोला जाता है।

एक तरीके से देखें तो क्रेडिट कार्ड आपके लिए पैसे उधार लेता है। इन पैसों को बाद में वापस करना होता है। इस स्टोरी में हम जानेंगे कि क्रेडिट कार्ड क्या है और यह कैसे काम करता है?

Credit Card क्या है?

क्रेडिट कार्ड एक वित्तीय साधन है जिसे बैंक या वित्तीय संस्था जारी करती है, जिससे व्यक्ति तय सीमा तक पैसे उधार ले सकता है। इसमें एक तय सीमा होती है, जिसे क्रेडिट लिमिट कहा जाता है, और उपयोगकर्ता इस सीमा तक ही खरीदारी कर सकता है।

क्रेडिट कार्ड व्यक्ति को अपनी आवश्यकताओं के लिए तत्परता प्रदान करता है जब उसके पास पैसे नहीं होते हैं। और बाद में एक तय समय अनुसार उन पैसों को वापस करना होता है।

Credit Card कैसे काम करता है?

क्रेडिट कार्ड की आवश्यकता: क्रेडिट कार्ड का उपयोग विभिन्न आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए किया जाता है। यह व्यक्ति को बिना पैसे उधार लिए वस्तुओं और सेवाओं को खरीदने में सहायक होता है।

क्रेडिट लिमिट: बैंक या क्रेडिट कार्ड कंपनी द्वारा निर्धारित क्रेडिट लिमिट की गई होती है, जो उपयोगकर्ता के उपयोग के लिए उपलब्ध होती है। इसमें स्थिति के आधार पर क्रेडिट स्कोरिंग का भी प्रभाव होता है।

खरीदारी की प्रक्रिया: जब व्यक्ति कोई वस्तु या सेवा खरीदता है, तो वह क्रेडिट कार्ड का उपयोग करके अपनी खरीदारी कर सकता है। क्रेडिट कार्ड कंपनी उसकी ओर से धन उधार देती है और उसे एक निर्दिष्ट समय में इसे वापस करना होता है।

बिना ब्याज की अवधि: अगर व्यक्ति ने खरीददारी की रकम को निर्धारित समय में वापस कर दी, तो उसे ब्याज का भुगतान नहीं करना पड़ता है। यह उपयोगकर्ताओं को बिना ब्याज के धन प्रदान करने का आदान-प्रदान करता है।

ब्याज और शुल्क: अगर व्यक्ति ने धन को समय पर नहीं वापस किया, तो उसे ब्याज के साथ चुकता करना होता है। क्रेडिट कार्ड कंपनी ब्याज की दरें और शुल्क की जानकारी पहले ही सप्लाई करती है।

क्रेडिट स्कोर का प्रभाव: यदि व्यक्ति समय पर और सही तरीके से उधार का भुगतान करता है, तो उसका क्रेडिट स्कोर बढ़ता है, जिससे वह भविष्य में वित्तीय लेन-देन के लिए और भी उच्च लिमिट प्राप्त कर सकता है।

आखिरी बात

क्रेडिट कार्ड (Credit Card) एक उच्च रचनात्मक और वित्तीय उपाय है जो लोगों को आवश्यक राशि के बिना खरीदारी करने की सुविधा प्रदान करता है। हालांकि, इसका उपयोग सावधानीपूर्वक किया जाना चाहिए ताकि ब्याज और शुल्कों से बचा जा सके।

लेकिन एक बात हमेशा याद रखें, क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल करने से पहले अच्छी वित्तीय योजना बनाएं और क्रेडिट कार्ड का उपयोग सावधानीपूर्वक करें, ताकि यह आपके लिए एक सकारात्मक साधन बने। ना कि ऐसा साधन जो आपको बर्बाद करके रख दे।

यह भी पढ़ें : शेयर मार्केट में कैरियर कैसे बनाएं?

Leave a Comment